Poems

Top 30+ Best Hindi Poem for School || विधालय के ऊपर कविताये

Hindi poem for school :- नमस्कार दोस्तों आज हम आप सभी के लिए बिधालय पर कविताएं लाये है। जैसा की अआप सभी जानते है। की विधालय घर के बाद हमारा दूसरा घर होता है। जहाँ हमने अपनी ज़िंदगी के 14 साल हस्ते खेलते गुजार दिए। आज छाए हम बड़े हो गए हो लेकिन स्कूल की वो यदि आज भी हमारे जहन में खाई न खाई बस्ती जरूर है। ज़िंदगी में दोस्त तो बहौत मिलेंगे लेकिन किताबो से जिसने दोती कर ली वो फिर आने वाली ज़िंदगी में उस इंसान को क्या क्या बना देगी आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते। वो आपको भविष्य में एक सफल इंसान की लिस्ट में ला कर खड़ा ककर देगी। तो आये जानते है हमारे विधालय पर कुछ लोकप्रिय कविताएं। मुझे उम्मीद है। की आपको हमारा लेख पसंद आएगा।

Hindi poem for school – हिंदी में विधालय पर कविताये

School poem in hindi

सैर-सपाटे भूल चले, बच्चे फिर स्कूल चले।
छुट्टी वाले दिन खर्चे शुरू पढ़ाई के चर्चे

आलस पर दे धूल चले, बच्चे फिर स्कूल चले।
कक्षा नई नए बस्ते नन्हे-मुन्ने गुलदस्ते

हंसते-गाते फूल चले, बच्चे फिर स्कूल चले।
रंगों का रेला बच्चे खुशियों का मेला बच्चे
तन-मन झूला झूल चले, बच्चे फिर स्कूल चले।


Hindi poem on school

ऐसी कोई करें पढ़ाई,, जिससे कोई ना जी चुराए ।
नई-नई हों बातें उसमें, सारी बातें मन को भाएँ ।।

बोझ हमें क्यों लगे पढ़ाई, मन कभी भी टिक ना पाए।
कितना कुछ भी याद करें हम, फुर्र से गायब हो जाए ।।

दे कोई ऐसा ज्ञान हमें भी, मन की गाँठें खुलती जाएँ।
जिज्ञासा हो शान्त सभी की, भीतर का तम मिटता जाए ।।

मिलकर ऐसी करें पढ़ाई, सबका मन ललचाता जाए ।
फिर कुछ करेंगे जग की खातिर, सबका घर रोशन हो जाए ।।


Hindi poem for 2nd class

आओ स्कूल चलें हम,
स्कूल में खुब पढ़ें हम।

जब तक सांसे चले,
तब तक ना रुके कदम ।

पढ़ लिख के बन जाएं नेहरू।
खुले गगन में उड़ेगें बन पखेरू।

गाता रहे हमारी सांसो की सरगम।
जैसे परी रानी की पायलकी छमछम।
आओ स्कूल चले हम !!


Hindi poem for school students

आज अम्मी ने मुझे सुबह जल्दी उठाया है
नहाया और सजाया, फिर नाश्ता कराया है

सुबह से ही वालिद का स्कूटर मैंने तैयार पाया है
ख़ुशी के साथ थोड़ा अंदाज़ मेरा भी हड़बड़ाया है

बड़ी चाहत से अपना बस्ता मैंने यूँ सजाया है
और कॉपी-किताबों को बड़े क़रीने लगाया है

आज कैसा हो दिन मेरा? पे बस ख़्यालों का साया है
मेरे स्कूल जाने का, आज पहला दिन जो आया है !!


Poem On School Days In Hindi

जिंदगी का सबसे खूबसूरत सा सफर

बस अब याद में सिमट गया है।

कुछ अनकहे से ख्वाब

और कुछ खट्टीमिठी याद बन के रह गया है।

अब तो facebookपे सिर्फ

friends बन के रह गए है

मिलना तो दूर एक दूसरे

के tag बन के रह गए है।

जिंदगी ने रफ्तार पकड़ ली है

जिम्मेदारियों ने जकड़ लिया है

फ़ुर्सत के पल सिमट गए है

बस अब एक दूसरे की याद में याद बन के रह गए है।

Read Best poem on education in Hindi

Along with school, the Best poem on education in Hindi also has a good memory lane. poem on school in Hindi days reminds us of the importance of education and how much fun we had while studying. This Hindi poem on school is written in Hindi, but even if you don’t understand the language, you will be able to relate to them. So, take a trip down memory lane with us and enjoy these school poem in Hindi!

When we are young, our parents push us to go to school so that we can have a successful life. They know that education is the key to a bright future. We learn about new things in Poem for students in Hindi, Poem on education in Hindi, and make friends with people from all over the world. We also learn how to think for ourselves and make good decisions. poem on education is very important, and it is something that we should never take for granted.

Hindi poem for school: हां तो दोस्तों आजकी हमारी पोस्ट हिंदी पोएम फॉर स्कूल पर पढ़कर केसा लगा। वेशक आपको भी स्कूल के वो दिन याद आ गए होंगे। आप ये पोस्ट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करना ताकि वह भी स्कूल के दिनों का आनंद ले सके। धन्यवाद।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!