Poems

Poem on Unity in Hindi || एकता पर लोकप्रिय कविताये

Poem on Unity in Hindi:- दोस्तों यहां हमने एकता के ऊपर कविताएं लिखी है। यहां आपको शायद सबसे अच्छी एकजुटता पर सॉनेट्स का वर्गीकरण दिया गया है। एकजुटता का अर्थ है एक साथ रहना। यानी आपस में मिलजुल कर रहना एकता कहलाती है। जहाँ एकता होती है वहा कोई भी तुम्हारा विरोध करने में दस बार सोचेगा। किसी भी कारण से इसे एक के रूप में जोड़कर उस मुद्दे से निपटने के लिए एकजुटता सबसे अच्छा तरीका है। एकजुटता में ताकत है। यह अक्सर कहा जाता है।

वर्तमान में हमें एकता पर कविता हिंदी में पढ़ना चाहिए। इनमें से हर एक एकता पर हिंदी कविता हमें क्रमशः जीने के लिए प्रेरित करती है। इसके अलावा, एक साथ रहने के महत्व को समझें। एकता पर इन कविताओं को अपने साथियों के साथ भी साझा करें।

Poem on Unity in Hindi – एकता पर कविता हिंदी में 

Unity Poem in Hindi – एकता पोएम इन हिंदी 

मैं नहीं तू, तू नहीं मैं
कब तक चलेगा ये मतभेद
कैसे अनपढ़ हैं कहने वाले
जो देश को सांप्रदायिक सोच देते हैं
फूट डालो और राज करो
कैसे वो ये नारा भुला बैठे हैं
अंग्रेज हो या कोई हमने ही तो अवसर दिया
आपसी लड़ाई में हमने मातृभूमि को गँवा दिया
आज भी उसी सोच के गुलाम हैं हम
खुद ही अपने देश के शत्रु बन रहे हैं हम
फिर से कही मौका न दे बैठे
चलो सुलझाये और आज साथ आकर बैठे

“एकता का दीप जलाएंगे” – poem on anekta mein ekta

नफ़रत की दीवार तोड़कर,
प्रेम की गंगा बहाएंगे,
सबके दिलो मे फिर से,
एकता का दीप जलाएंगे ।।
छुआ-छूत को मानकर,
आपस में न भिड़ं जाएंगे,
हँसी खुशी हम साथ-साथ,
मिलकर भेदभाव भुलाएंगे ।।
नारियो की इज्जत कर,
उनका अधिकार दिलवाएंगे,
सबके दिलो मे फिर से,
एकता का दीप जलाएंगे ।।
दो पैसो के लालच मे,
भ्रष्टाचार नही फैलाएंगे,
भूख-प्यासे रहकर भी,
एकता का दीप जलाएंगे ।।

vividhata me ekta poem in hindi

जनता निद्रा से जागो, देश हित में आगे आओ
नेताओं को लड़ने दो, तुम मत दंगे फैलाओ
मेरे देश के युवा सुनो, धर्मो को पीछे छोड़ो
मानवता की बात करो, सब मिलकर कदम बढ़ाओ
जनता निद्रा से जागो, देश हित में आगे आओ
मेरी माताओं और बहनो, तुम भी अपना फ़र्ज़ निभाओ
अपने-अपने बच्चों को तुम, इंसानियत का सबक सिखाओ
जनता निद्रा से जागो, देश हित में आगे आओ
वोटों को मत अपने बेचो, लोकतंत्र की मर्यादा जानो
नेता के चंगुल में न आओ, उसको अपनी ताकत बतलाओ
जनता निद्रा से जागो, देश हित में आगे आओ
आपस में तुम लड़ो नहीं, दुश्मनो से तुम डरो नहीं
भारत माँ को ज़रूरत हो, तो तुम सीमा पर आ जाओ
जनता निद्रा से जागो, देश हित में आगे आओ

यह भी पढ़े – 

Poem on Child Labour in Hindi

Labor Day Poem In Hindi

Hindi Poem for School

हां तो दोस्तों आपको हमारा ब्लॉग Poem on Unity in Hindi पर एकता कविताये पढ़कर केसा लगा। अगर आप हमारी पोस्ट से संतुष्ट है तो आप इसे शेयर करना ना भूले। और हां अगर हमारी पोस्ट से सम्बंधित आपका कोई सवाल है तो आप बेशक हमसे कमेंट में पूछ सकते है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!