Poems

Poems on Rain in Hindi || बारिश की बूँदें कविता

Poems on Rain in Hindi:- बारिश का मौसम साल के सबसे खूबसूरत समय में से एक होता है। यह भारत में विशेष रूप से सच है, जहां मानसून की बारिश गर्मी की गर्मी से बहुत जरूरी राहत देती है। बारिश हर किसी के लिए खुशियां लेकर आती है, हवा को गरज और बारिश की आवाज से भर देती है। ठंडा मौसम एक स्वागत योग्य बदलाव है, और बारिश हर उस चीज़ में नया जीवन लाती है जिसे वह छूती है। अगर आप बारिश के बारे में हिंदी में कविताएं ढूंढ रहे हैं, तो आप सही जगह पर आए हैं!

एक बारिश में उसके साथ भीगने का मन
उसकी बातों में कोई रात जागने का मन

उसके बालों को आगे ला के उसके कन्धों पर
अपने हाथों से हर धड़कन सहेजने का मन

महके फूलों को यूँ बिखरा के देह भर उसकी
अपने होंठों उसे हर फूल देखने का मन

हूँ मुहब्बत वहाँ जाऊँ जहाँ न जाए कोई
सिहरे तन में कहीं है मन को चूमने का मन

कबसे धरती को तकती हो गई है ख़ुद धरती
अब उठा कर उसे आकाश सौंपने का मन

पाँव रस्ते तो सारे नापते अकेले ही
थक के होता किसी के साथ लौटने का मन

किसी रिश्‍ते किसी नाते मिले कहाँ चाहत
प्यार रहकर ही कुछ उससे है माँगने का मन

अपने सोचे हुए कुछ नाम उसको देने का
नाम हर भूल कर उसको ही सोचने का मन

इसी मिट्टी में दब कर बीज सा उगूँ फिर से
इसी पानी में है सूरज सा डूबने का मन

जि़न्दगी साथ दे और साथी वो जिसे ‘अनिमेष’
अपना सब कुछ हो अपने आप सौंपने का मन


poems on rainy season in hindi

बारिश आने से पहले
बारिश से बचने की तैयारी जारी है
सारी दरारें बन्द कर ली हैं
और लीप के छत, अब छतरी भी मढ़वा ली है
खिड़की जो खुलती है बाहर
उसके ऊपर भी एक छज्जा खींच दिया है
मेन सड़क से गली में होकर, दरवाज़े तक आता रास्ता
बजरी-मिट्टी डाल के उसको कूट रहे हैं !
यहीं कहीं कुछ गड़हों में
बारिश आती है तो पानी भर जाता है
जूते पाँव, पाँएचे सब सन जाते हैं

गले न पड़ जाए सतरंगी
भीग न जाएँ बादल से
सावन से बच कर जीते हैं
बारिश आने से पहले
बारिश से बचने की तैयारी जारी है !!


Varsha ritu poem in hindi जब-जब पानी आता है–

जब-जब पानी आता है
पत्ते, फूल खिलाता है
बरखा रानी आती है
रिमझिम पानी लाती है।

पानी आता झर-झर
बादल गरजते गर-गर-गर
बिजली रानी चमकती है
लगता अच्‍छा नभ मंडल।

कभी आता ज्यादा पानी
कभी आता पानी कम
कभी कहीं पर बाढ़ बोलती
कभी बोलता सूखापन।


poem in hindi on rainy season

देखो बसंत ऋतु है आयी।
अपने साथ खेतों में हरियाली लायी।

किसानों के मन में हैं खुशियाँ छाई।
घर-घर में हैं हरियाली छाई।

हरियाली बसंत ऋतु में आती है।
गर्मी में हरियाली चली जाती है।

हरे रंग का उजाला हमें दे जाती है।
यही चक्र चलता रहता है।

नहीं किसी को नुकसान होता है।
देखो बसंत ऋतु है आयी।


short poems on rain in hindi

काला-धोला, बादल आया,
संग ये अपने, बरखा लाया।

रिम-झिम का संगीत सुनाता,
खुशियों का संदेशा लाया।

जंगल महका चिड़िया चहकी,
नाचा मोर पपीहा गाया

काला-धोला बादल आया,
वर्षा की बौछारें लाया।


यह भी पढ़े-

Beautiful Poem on Flower

Poem on Tree in Hindi

Prakriti Poem In Hindi

हां तो दोस्तों आपको हमारी पोस्ट Poems on Rain in Hindi पर लिखा आर्टिकल कैसा लगा। अब आप भी इन बारिश कविताओं के माध्यम से बारिश के मौसम का आनंद ले सकते है। और अपने दोस्त और परिवार के साथ व्हाट्सप्प स्टेटस शेयर कर सकते है। धन्यवाद।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!