Poems

Safety Poem in Hindi | 5+ सुरक्षा पर बहतरीन कविताएं

Safety Poem in Hindi: आज हम सुरक्षा पर कुछ चुनिंदा कविताएं लाये है आज सब इतने व्यस्त हो गए है की किसी को अपनी कोई फ़िक्र नहीं सब अपनी अपनी मस्ती में लगे हुए है सामने क्या हो रहा है क्या नहीं किसी को कोई मतलब नहीं लोग अपनी तो छोड़ो दुसरो की सुरक्षा का दायित्व भी भूल चुके है ऐसी ही कुछ कविताएं आज हम आप सभी के लिए लाये है ताकि आप अपनी जिम्मेदारियों को समझ सके और अपनी ही नहीं सभी की सुरक्षा का ध्यान रखे। में उम्मीद करता हूँ की आपको हमारा लेख पसंद आएगा।

सड़क सुरक्षा पर स्वरचित कविता हिन्दी मे | Safety Poem in Hindi Mai

जब मैं निकलती हूँ सड़क पर,
ऐसा लगता है मैं हूँ सरहद पर |
हर तरफ युद्ध का नजारा होता है,
हर कोई इस युद्ध में शामिल होता है,
ये देख मेरी दिल की धडकने बढ़ने लगती है,
जब हर कोई सड़क पर जंग लड़ रहा होता है |
जब मैं निकलती हूँ सड़क पर,
ऐसा लगता है मैं हूँ सरहद पर |
वो मिसाइल की रफ़्तार से आगे निकलता है,
और किसी ना किसी की जान लेकर ही दम लेता है,
कोई और उसका निशाना न भी बने तो
कभी ना कभी खुद ही फट जाता है।
सुना हो जाता है आंगन किसी का
किसी की जिंदगी बदरंग हो जाती है,
कयों भागते हैं इतना तेज हम,
किसी की खुशी में मातम हो जाता है
रूक भी जाया करो किसी को तुम्हारा इंतजार है,
कुछ देर से पहुंचोगे मगर पहुंचोगे तो सही,
कुछ पल की देरी दिल बर्दास्त भी कर लेगा,
न पहुंचोगे तुम तो, किसी का जीवन
खराब कर देगा जब मैं निकलती हूँ सड़क पर,
ऐसा लगता है मैं हूँ सरहद पर।
मत समझो बोझ हेलमेट को तुम,
के किसी के दिल पर, किसी की ममता पर,
किसी के बचपन पर, किसी के पयार पर,
जिंदगी का बोझ बढ़ जाए |
जब मैं निकलती हूँ सड़क पर,
ऐसा लगता है मैं हूँ सरहद पर |

hindi language road safety poem in hindi

बच्चो सड़क करो तुम ध्यान से पार,
देखो दाए बाए,
रखो सुरक्षा का ख्याल,

जान का है इसमें जोखिम,
बिना थामे किसी बड़े का हाथ,
सड़क मर करो तुम पार,

सड़क़ पर सावधान होक़र चलेगें
ग़ति सीमा क़ा हम ध्यान रखेगे
दुपहियां वाहन तभी ज़ब हेलमेट लग़ाएगें
सड़क सकेतों क़ा पालन क़रेगे।

ओवर-लोड वाहन ऩही चलाएगें
ओवर-टेक सम्भलक़र क़रेगें
अन्य वाहनो सें निश्चित दूरी ब़नाकर चलेगे
तभी तो हम दुर्घटना सें ब़चेंगे।

लाल पर रुकेगे, हरें पर चलेगें
पीलें पर सूझ-बूझ सें धीरेधीरें चलेगें
चौपाये वाहन मेंं सीट-बेल्ट लगाक़र चलेगें
अब़ हम दुर्घंटना को क़म करेगें।

Safety Poem Compition – सुरक्षा कविता 

सावधानी से कार्य करो भई
घर सुरक्षित जाना है।
घर मे माँ इंतजार है करती
अपना मुख उन्हें दिखाना है

अपने लिए न ही सही
पर उनके लिए सुरक्षित रहना
किसी ने तुम्हे आगाज न किया
ये तुम फिर से न कहना।

एक ही लाठी तुम उनके जीवन की
तुम विश्वास आखरी हो
तेज चलाओ जब भी गाड़ी सोचना
तुम ही आस आखरी हो।

हर क्षेत्र में कही भी जाओ
सुरक्षा नियम का पालन करना
जब भी मन भटके इस से
एक बार बस घर वालो को सोचना।

धैर्य ओर अनुशासित रहकर
जब कार्य करना सीख जाओगे
उस दिन मेरे बंधु सखा तुम
सुरक्षित घर जा पाओगे

सुरक्षा नियम का पालन करना
कर्तव्य प्रथम हमारा है
सभी सुरक्षित रहे समाज मे
यह संकल्प हमारा है।।

Industrial Safety Poem in Hindi

सुरक्षा  कर्त्तव्य  है  हमारा  सुरक्षित  हो  हर  कार्य  हमारा
सुरक्षा  का  धर्म  निभाना  सुरक्षित  रोज़  घर  जाना

 सुरक्षा  के  मापदंड  का  पालन  है  कर्त्तव्य  हमारा
इससे  सुरक्षित  होगा  हमारा  परिवार  सारा

 हर  कार्य  के  पहले  जानो
सुरक्षा  के  हर  मापदंड  को  पहचानो

सुरक्षित  कार्य  है  कर्त्तव्य  हमारा
बिना  जाने  सबको  करो  न  कोई  काम

 इससे  अपने  कारखाने  का  हो  सकता  है  नुकसान
अपने  कार्य  की  हरदम  करो  समीक्षा

 सुरक्षा  से  कार्य  करने  पर  प्रबल  होगी  इच्छा
हमें   लेना  है  यह  संकल्प

सेफ्टी  का  कोई  नहीं  है  विकल्प
सुतरक्षित  हो  कार्य  कर्तव्य  हमारा

यह  है  कर्तव्य  हमारा

safety poem in hindi pdf

सावधानी से कार्य करो भई
घर सुरक्षित जाना है।
घर मे माँ इंतजार है करती
अपना मुख उन्हें दिखाना है

अपने लिए न ही सही
पर उनके लिए सुरक्षित रहना
किसी ने तुम्हे आगाज न किया
ये तुम फिर से न कहना।

एक ही लाठी तुम उनके जीवन की
तुम विश्वास आखरी हो
तेज चलाओ जब भी गाड़ी सोचना
तुम ही आस आखरी हो।

हर क्षेत्र में कही भी जाओ
सुरक्षा नियम का पालन करना
जब भी मन भटके इस से
एक बार बस घर वालो को सोचना।

धैर्य ओर अनुशासित रहकर
जब कार्य करना सीख जाओगे
उस दिन मेरे बंधु सखा तुम
सुरक्षित घर जा पाओगे

सुरक्षा नियम का पालन करना
कर्तव्य प्रथम हमारा है
सभी सुरक्षित रहे समाज मे
यह संकल्प हमारा है।।

Also Read-

Hasya Kavita in Hindi

Funny Poem on Friendship in Hindi

Self Motivation Poem Hindi

It’s time for everyone to take a step back and think about what’s really important. It’s time to start caring for ourselves and others again. We need to remember that we’re all in this together and that we have to look out for each other. Otherwise, we’ll all end up alone and lost in our own little world. so today we have some posts like- a safety poem in Hindi pdf, and industrial safety poem in Hindi, I hope this blog you like.

दोस्तों आज की हमारी Safety Poem in Hindi परलिखे लेख का उदेश्य आपको यही बताना था की आप अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी स्वयं उठाये किसी के भरोसे न रहे। लेकिन इसका मतलब ये नहीं की आप किसी दूसरे की भी सुरक्षा ना करे आप दुसरो की जरूर सहायता करे। आप ये पोस्ट सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे ताकि लोग भी सुरक्षा के प्रति जागरूक हो सके धन्यवाद। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!